बालाजीपुरम

बालाजी पुरम भगवान बालाजी के विशाल मंदिर के लिए प्रसिद्ध है। यह स्थान बैतूल बाजार नगर पंचायत के अंतर्गत आता है। जिला मुख्यालय बैतूल से केवल 7 किलोमीटर की दूरी पर राष्ट्रीय राजमार्ग 69 पर स्थित है। इसकी ख्याति दिन-प्रतिदिन फैलती जा रही है। यही कारण है कि आप इसे किसी भी मौसम में देखने जा सकते है यहां भक्तों का ताता लगा रहता है। मंदिर के साथ ही चित्र भी बने है। जिसमें भगवान राम के जीवन से जुड़ी विभिन्न घटनाओं को प्रदर्शित किया गया है। मूर्तियाँ इस तरह बनाई जाती हैं मानो उन्हें बोलना हो। इसके अलावा यहां वैष्णव देवी का मंदिर है। वहां जाने के लिए आपको गुफा केंद्रों से गुजरना पड़ता है। कृत्रिम झरना भी बहुत सुंदर है। कृत्रिम मंदाकिनी नदी भी बनाई गई है। आप नव विहार का आनंद भी ले सकते हैं। हर साल वसंत पंचमी पर यहां एक बड़ा मेला आयोजित किया जाता है। यह पूरे भारत में पांचवें धाम के रूप में अपनी पहचान बना रहा है।

फोटो गैलरी

  • मँदिर का मुख्य द्वार
  • मँदिर का रात्रि दृश्य
  • मँदिर का दृश्य

कैसे पहुंचें:

वायु मार्ग

निकटतम हवाई अड्डा नागपुर और भोपाल

रेल द्वारा

बैतूल रेल्वे स्टेशन

सड़क के द्वारा

जिला मुख्यालय बैतूल से केवल 7 किलोमीटर की दूरी पर राष्ट्रीय राजमार्ग 69 पर स्थित है।